Monthly Archives: August 2014

गहरी नींद

हँसाते हँसाते कल, मैं आज रोया भी हूँखोजते हुए तुझको मैं खुद खोया भी हूँकल मैं ही बताता था, ये इश्क ख़राब हैकरके ये नशा मैं गहरी नींद सोया भी… Read more »

कल-आज-कल

भावुकता की पंक्तियाँ शुरू में कोई मिले अजनबी ही सही अच्छा लगता है वही अजनबी ख़ास बनकर गम देता है….! असल में ये चार पंक्ति सारांश हैं कल आज कल… Read more »

जन्मदिन मुबारक

ऐ दोस्त तुम्हे तुम्हारी खुशियों का हर दिन मुबारकसूरज सा उज्जवल हैं भविष्य हर नवदिन मुबारकपहले कभी दी नहीं किसी वर्ष में कोई दावत तुमनेदावत की उम्मीद में इस बार… Read more »

मिटाया हर दर्द

पाया तुमको अब खुशियों का ठिकाना न रहासब ही हैं अपने यहाँ अब कोई बेगाना न रहामैं तो बस हार ही गया था तेरी जिद के आगे तूने मिटाया हर… Read more »

प्रेम आता है

पंछी पानी पीता है और उड़ जाता हैमोर वर्षा में  और भी सुरीला गाता हैतुम करो जितनी मर्ज़ी नफ़रत मुझसेइस गुनी को बस प्रेम करना आता है #गुनी …!

गणेश चतुर्थी विशेष

1.मंगल मूर्तिगौरी पुत्र गणेशश्री विघ्नहर्ता 2. संकट हरोगजानन तुमसंकटहर्ता 3.कल्याणकारीमोदक प्रिये तुम्हेंविनती सुनो 4. मैं अज्ञानी हूँआप हो ज्ञानवानसद्बुद्धि दाता #गुनी …

— विचार —

जब कोई चीज मुझे हासिल करनी है तो मतलब किसी भी हद तक जाकर करनी है तो Dedication तो खुद आएगा और अगर नहीं आता मतलब मुझे वो चीज़ हासिल… Read more »

सिंघम रिटर्न्स

बहुत मुद्दत के बाद हमने एक शेर को गद्दी पर आते देखा हैडर गए हैं इतने चूहों के साथ कुत्तो को बिल में जाते देखा हैमत सोचिये कि मैं कोई… Read more »

विद्यालय और घोटाले

ये घटना उस समय की है जब पहली बार हम पास के पूर्व विद्यालय में दस्तक दे रहे थेहमारे अध्यापक भी बच्चो को आपना आधा मस्तक दे रहे थेबच्चो को… Read more »