Monthly Archives: April 2016

ऐसी जिंदगानी हो

मत कर तु कोई काम ऐसा कि तेरी आंखो में पानी होहर नुक्कड़ पर लिखी सिर्फ तेरे गुनाहो की कहानी होखुद के लिए तू जी लिया है बहुत, आज तक… Read more »

क्या बताएगा खुदा को

अपने हाथो में, अपने गुनाहो की किताब रखफिर किसी और की गलतियों का हिसाब रखकयामत की रात ,  तु क्या बताएगा खुदा कोअरे मुसाफिर कम से कम उसका जवाब रख… Read more »

खूबसूरत थी तेरी बात

वो दिन भी खूबसूरत थे , खूबसूरत थी वो रातवो पल था सुहाना, खूबसूरत थी हर मुलाकातक्या आवाज सुरीली होगी ,  किसी कोयल कीतु ही खूबसूरत थी और खूबसूरत थी… Read more »

वो योग भी न रहे

पुराने पन्नों मे सबसे हसीन … बदल गया समय और वो पुराने लोग भी न रहेकुछ पल में हुए दोस्त, वैसे तो संयोग भी न रहेदोस्त और भी मिल जाएंगे… Read more »

भारत में अभिव्यक्ति की आजादी है

थोड़ी देरी से पुराने ख्यालो का कच्चा कच्चा रूप… भारत माता की जय को अब हथियार बनाकर बोलेंगेलेकर के हाथो में तिरंगा हिन्द की गली गली में डोलेंगे माँ की… Read more »

तुफानो से डर नहीं लगता

एक बार फिर आपके लिए … #खास आंधी या तुफानो से हमें डर नहीं लगताहमें तो तुम्हारी रुस्वाई बर्दाश्त नहीं होती #गुनी…

उस वक़्त हम बच्चे थे

मेरा गांव …. और वहां के लोग एक एक घर मंदिर था मेरे गांव काबेशक मेरे गांव के सारे घर कच्चे थे दिल से दिल का रिश्ता था लोगो मेंगरीबी… Read more »

इतनी खूबसूरत है

यकीनन तु किसी देवी सी मूरत हैमुझे तेरी और तुझे मेरी जरूरत है जमीन के फूल भी फिके लगते हैंजहां में बस तु, इतनी खूबसूरत है #गुनी…