Monthly Archives: June 2016

हरा दुप्पटा काला सूँट सबका रंग फीका है

हरा दुप्पटा काला सूँट सबका रंग फीका हैयकीनन तेरे चेहरे का रंग , बेहद सुनहरा है ये कंगन, ये बाली तेरी, कैसी है इन्हें खुशीशायद इनसे भी , तेरा रिश्ता… Read more »

तेरा आशियाना बदल रहा है

अब कोई कसूर तो तुम्हारा भी नहीं ये तो सारा ही जमाना बदल रहा है वो मौहब्बत तो आज भी है कायमतेरे इनकार का बहाना बदल रहा है दरमियां दूरीयो… Read more »