Monthly Archives: November 2016

नजर मिल गयी

​एक दफा हमारी, उनसे कहीं नजर मिल गयी यूँ मानिये हमें सारे जहां की खबर मिल गयी जब निकलता है गुनी चाँद के साथ अकसर लोग पूछ लेते हैं ये… Read more »

नजर मिल गयी

एक दफा हमारी, उनसे कहीं नजर मिल गयी यूँ मानिये हमें सारे जहां की खबर मिल गयी #गुनी…

ख्वाब रह गया

छिप गया चाँद देखो चेहरे पर सिर्फ नकाब रह गया रात भर देखा था अधूरा ही मेरा वो ख्वाब रह गया #गुनी…

कहाँ किसी ने रोका है

आकाश के परिंदों की उड़ान को कहाँ किसी ने रोका है और ऊंचा उठो तुम, आसमाँ को कहाँ किसी ने रोका है #गुनी…

अजान की जरूरत क्या है

सफर लम्बा हो तो रास्तो में , अभिमान की जरूरत क्या हैसीख ली हो जो अदा दरख्त सी मचान की जरूरत क्या है यकीनन आजकल दस्तूर है मियां, बड़े बड़े… Read more »

तेरी मौजूदगी इनायत हो गयी

मेरी जिंदगी के इस नायाब सफर में, तेरी मौजूदगी इनायत हो गयीये सांसे खफा है जब से तेरे दिल को मेरे दिल से शिकायत हो गयी #गुनी…