Monthly Archives: December 2017

दुनियादारी नहीं चाहिए

मोहब्बत की ख्वाईश है मेरी दुनियादारी नहीं चाहिए जरा सादगी से पेश आओ ये अदाकारी नहीं चाहिए एहतियात से सुनो तुम अपना दिल अपने पास रखो एक है तो मेरा,… Read more »