Yearly Archives: 2014

भगवान बदल जाते हैं

दो दो रूपए के चलते लोगो के ईमान बदल जाते हैंवक़्त के साथ साथ आजकल इंसान बदल जाते हैंऔर जब काम नहीं चलता किसी एक की पूजा सेतब कम्बख्त हम… Read more »

ऐ चाँद अभी भौर है

वो निकली है यहीं कहीं से अभी अभी सुना शौर हैजरा छिपाकर रख चांदनी को ऐ चाँद अभी भौर है #गुनी…

मुझे सिर्फ इतना फ़िक्र है

तू फिर आएगी दिल तोड़कर, अपना बनाने बस्ती में ये जिक्र हैबेसक मैं जैसा भी हूँ तू सलामत तो है मुझे सिर्फ इतना फ़िक्र है #गुनी…

आँखों में पानी देता है

वक़्त से खबरदार ये वक़्त चोट-गहरी निशानी देता हैसंभल रख कदम यहाँ इन्सां गवा सारी जवानी देता हैकिसी गैर का दोष नहीं है जो उनपर उंगली उठाते होये कमबख्त इश्क… Read more »

नयी कहानी हो गई

वो मिलने आती थी चांदनी रातो को वैसे ये बात पुरानी हो गईउसका आना-जाना था ऐसा, फिर सारी दुनिया दीवानी हो गईजब मैं खूब रोया उसकी यादो में, मैंने भी… Read more »

धड़कन भी तेरी है

क्या शक्ल, क्या सूरत, दिल की खूबसूरती जरुरी हैबिना मौहब्बत के इंसान की कमाई आधी अधूरी हैकुछ क्षण और गुजर जाएंगे मेरे , आंसुओ के सहारेमैं तो ना झुकता धड़कन… Read more »